Blog

शिवरात्रि 2022 

Maha Shivratri, as the name suggests, is a day dedicated to Lord Shiva.
Shivaratri, it is said, is the convergence of Shiva and Shakti — the masculine and feminine energies which balance the world. 

इस साल सावन माह की शिवरात्रि 26 जुलाई 2022 दिन, मंगलवार को मनाई जाएगी।
हिन्दु पञ्चाङ्ग में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि या मास शिवरात्रि के रूप में पूजा जाता है। 
हिंदू पंचांग में हर साल में 12 शिवरात्रि होती हैं, लेकिन इनमें से दो शिवरात्रि का खास महत्व दिया जाता है। इनमें सबसे प्रमुख फाल्गुन मास की शिवरात्रि मानी जाती है, जिसे महाशिवरात्रि भी कहा जाता है। वहीं इसके अतिरिक्त दूसरी महत्वपूर्ण शिवरात्रि सावन की मानी जाती है। इस दिन विधि-विधान से शिव जी की पूजा की जाती है। सनातन धर्म में श्रावण मास की महिमा का वर्णन किया गया है। मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने और पूजा-अर्चना करने वाले भक्तों पर महादेव जल्दी प्रसन्न होते हैं और उन्हें उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है।

सावन शिवरात्रि 2022 तिथि  

सावन  शिवरात्रि तिथि- 26 जुलाई 2022, दिन मंगलवार
चतुर्दशी तिथि आरंभ- 26 जुलाई 2022, मंगलवार शाम 06 बजकर 46 मिनट से 
चतुर्दशी तिथि समाप्त- 27 जुलाई 2022, बुधवार रात 09 बजकर 11 मिनट पर  

शिवरात्रि के दिन इन मंत्रों का जाप करना चाहिए  

1. शिव मोला मंत्र  

ॐ नमः शिवाय॥  

2. महा मृत्युंजय मंत्र  

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्  

उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥  

3. रूद्र गायत्री मंत्र  

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि  

तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥